समर्थक

शनिवार, 5 मई 2012

जाने किस-किस की आस होता है

जाने किस-किस की आस होता है.
जिसका चेहरा उदास होता है.

उसकी उरियानगी पे मत जाओ
अपना-अपना लिबास होता है.

एक पत्ते के टूट जाने पर
पेड़ कितना उदास होता है.


अपनी तारीफ़ जो नहीं करता
कुछ न कुछ उसमें खास होता है.

खुश्क होठों के सामने अक्सर
एक खाली गिलास होता है.

हम खुलेआम कह नहीं सकते
बंद कमरे में रास होता है.

वो कभी सामने नहीं आता
हर घडी आसपास होता है.

----देवेंद्र गौतम


14 टिप्पणियाँ:

छोटे ने कहा…

एक पत्ते के टूट जाने पर
पेड़ कितना उदास होता है.

bahut khoob

expression ने कहा…

बहुत खूब............
वाह!!!!

सदा ने कहा…

वाह ...बहुत खूब लिखा है आपने ।

दिगम्बर नासवा ने कहा…

खुश्क होठों के सामने अक्सर
एक खाली गिलास होता है.

जबरदस्त और आखरी वाला शेर भी एकदम धमाल ... मज़ा आ गया देवेन्द्र जी ...

Devendra Gautam ने कहा…

भाई छोटे जी! एक्सप्रेशन जी!, सदा जी!. दिगंबर नासवा जी .... हौसला-अफजाई के लिए शुक्रिया.

दीपिका रानी ने कहा…

अच्छी ग़ज़ल..

Udan Tashtari ने कहा…

वाह!! बहुत उम्दा!!

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

बहुत बढ़िया प्रस्तुति!
घूम-घूमकर देखिए, अपना चर्चा मंच
लिंक आपका है यहीं, कोई नहीं प्रपंच।।
आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल शनिवार के चर्चा मंच पर भी होगी!
सूचनार्थ!
--
डॉ. रूपचंद्र शास्त्री "मयंक"
टनकपुर रोड, खटीमा,
ऊधमसिंहनगर, उत्तराखंड, भारत - 262308.
Phone/Fax: 05943-250207,
Mobiles: 09456383898, 09808136060,
09368499921, 09997996437, 07417619828
Website - http://uchcharan.blogspot.com/

Shanti Garg ने कहा…

बहुत बेहतरीन व प्रभावपूर्ण रचना....
मेरे ब्लॉग पर आपका हार्दिक स्वागत है।

ana ने कहा…

bahut sunder prastuti

रश्मि प्रभा... ने कहा…

अपनी तारीफ़ जो नहीं करता
कुछ न कुछ उसमें खास होता है.
......... वाह

प्रसन्न वदन चतुर्वेदी ने कहा…

बहुत अच्छी गज़ल...सुंदर प्रस्तुति...बहुत बहुत बधाई...

veerubhai ने कहा…

एक बेहतरीन ग़ज़ल आपने पढवाई .-एक पत्ते के टूट जाने पर ,पेड़ कितना उदास होता है .
कृपया यहाँ भी पधारें -
बृहस्पतिवार, 17 मई 2012
कैसे करता है हिफाज़त नवजात की माँ का दूध
कैसे करता है हिफाज़त नवजात की माँ का दूध
http://veerubhai1947.blogspot.in/

veerubhai ने कहा…

एक बेहतरीन ग़ज़ल आपने पढवाई .-एक पत्ते के टूट जाने पर ,पेड़ कितना उदास होता है .
कृपया यहाँ भी पधारें -
बृहस्पतिवार, 17 मई 2012
कैसे करता है हिफाज़त नवजात की माँ का दूध
कैसे करता है हिफाज़त नवजात की माँ का दूध
http://veerubhai1947.blogspot.in/

एक टिप्पणी भेजें

कुछ तो कहिये कि लोग कहते हैं
आज ग़ालिब गज़लसरा न हुआ.
---ग़ालिब

अच्छी-बुरी जो भी हो...प्रतिक्रिया अवश्य दें